Wuzu Ke Darmiyan ki Dua in Hindi, English & Arabic

अस्सलमु आलेकुम दोस्तों उम्मीद है आप सब अच्छे से होंगे आज इस पोस्ट की मदद से हम आपको बताएंगे की वुजू के दरमियान पढे जाने वाली दुआ कोनसी है और इस दुआ को कब पढ़ जाता है। 

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते है इस्लाम मे नमाज़ या कुरान पढ़ने से पहले वुजू बनाना जरूरी होता है और वुजू बनाने से पहले हमे दुआ पढ़नी होती है और वुजू के दरमियान और वुजू बनाने के बाद भी दुआ पढ़ी जाती है।


Wuzu Ke Darmiyan ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्माघ फ़िरली ज़ंबी, वा वासे ली फ़ी दारी, वा बारिक ली फ़ी रिज़्की


Wuzu Ke Darmiyan ki Dua in English

ALLAHUMMAG-FIRLEE ZMBEE WA-WASIA LEE WEE DAAREE WA-BARIK LEE FEE RIZKEE


Wuzu Ke Darmiyan ki Dua ka Tarjuma

اے اللہ عزوجل مجھے بخش دے اور میرے گھر میں برکت و شادگی دے اور میرے گھر روزی میں برکت عطا فرما۔


वुजू की फर्ज और सुन्नते

वुजू के 4 फर्ज हैं:

  1. चेहरा धोना: नाक और मुँह सहित पूरा चेहरा धोना।
  2. दोनों हाथों को कोहनियों तक धोना: हाथों को कलाई से ऊपर, कोहनियों तक धोना।
  3. सिर का मसह करना: सिर के एक चौथाई हिस्से को आगे से पीछे और पीछे से आगे मसह करना।
  4. दोनों पैरों को टखनों तक धोना: पैरों को टखनों से ऊपर, टखनों तक धोना।

वुजू की 13 सुन्नतें हैं:

  1. बिस्मिल्लाह पढ़ना: वुजू शुरू करने से पहले बिस्मिल्लाह पढ़ना।
  2. हाथों को तीन बार धोना: वुजू के हर फर्ज को तीन बार धोना।
  3. दाएं हाथ से शुरुआत करना: वुजू दाएं हाथ से शुरू करना।
  4. मुँह में पानी भरकर कुल्ली करना: मुँह में पानी भरकर कुल्ली करना।
  5. नाक में पानी डालकर सूंघना: नाक में पानी डालकर सूंघना और फिर पानी बाहर निकालना।
  6. कानों को मसह करना: कानों के अंदर और बाहर को मसह करना।
  7. गर्दन को मसह करना: गर्दन के आगे और पीछे को मसह करना।
  8. दोनों हाथों के बीच में पानी फेरना: दोनों हाथों के बीच में पानी फेरना।
  9. पैरों को टखनों से ऊपर उठाकर धोना: पैरों को टखनों से ऊपर उठाकर धोना।
  10. पैरों की उंगलियों के बीच पानी फेरना: पैरों की उंगलियों के बीच पानी फेरना।
  11. वुजू के बाद दुआ पढ़ना: वुजू के बाद दुआ पढ़ना।
  12. वुजू जल्दी करना: वुजू जल्दी करना।
  13. वुजू के बाद नमाज पढ़ना: वुजू के बाद नमाज पढ़ना।

वुजू के कई मुस्तहब हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • दांतों को मिस्वाक से साफ करना।
  • नाक में पानी डालकर सूंघना।
  • कानों को मसह करना।
  • गर्दन को मसह करना।
  • दोनों हाथों के बीच में पानी फेरना।
  • पैरों को टखनों से ऊपर उठाकर धोना।
  • पैरों की उंगलियों के बीच पानी फेरना।
  • वुजू के बाद दुआ पढ़ना।
  • वुजू जल्दी करना।
  • वुजू के बाद नमाज पढ़ना।

वुजू के मकरूह (Makruh)

वुजू के कई मकरूह हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • वुजू में देर करना।
  • वुजू के दौरान बातें करना।
  • वुजू के दौरान हंसना।
  • वुजू के दौरान नंगा होना।
  • वुजू के दौरान किसी को छूना।

वुजू करने का सही तरीका

वुजू करने का सही तरीका कुछ इस तरह है:

1. नियत करना:

  • वुजू करने से पहले, सबसे पहले आप वुजू से बनाने की दुआ पढे।
  • आप यह कह सकते हैं: “मैं अल्लाह की रज़ा के लिए वुजू करता हूँ“।

2. हाथ धोना:

  • सबसे पहले, अपने हाथों को कलाई से ऊपर, कोहनियों तक तीन बार धोएं।
  • दाएं हाथ से शुरुआत करें और बाएं हाथ से खत्म करें।

3. कुल्ली करना:

  • अपने मुँह में पानी भरकर तीन बार कुल्ली करें।
  • दाएं हाथ से पानी लें और बाएं हाथ से बाहर निकालें।

4. नाक में पानी डालना:

  • अपनी नाक में तीन बार पानी डालकर सूंघें।
  • दाएं हाथ से पानी लें और बाएं हाथ से बाहर निकालें।

5. चेहरा धोना:

  • अपने चेहरे को नाक और मुँह सहित पूरा तीन बार धोएं।
  • माथे से लेकर ठुड्डी तक और कान से कान तक धोएं।

6. हाथ मसह करना:

  • अपने हाथों को कोहनियों से लेकर उंगलियों तक तीन बार मसह करें।
  • दाएं हाथ से शुरुआत करें और बाएं हाथ से खत्म करें।

7. सिर मसह करना:

  • अपने सिर के एक चौथाई हिस्से को आगे से पीछे और पीछे से आगे तीन बार मसह करें।
  • गीले हाथों से सिर पर हाथ फेरें।

8. कान मसह करना:

  • अपने कानों के अंदर और बाहर को तीन बार मसह करें।
  • अपनी उंगली को गीला करें और कान के अंदर डालें।

9. पैर धोना:

  • अपने पैरों को टखनों से ऊपर, टखनों तक तीन बार धोएं।
  • दाएं पैर से शुरुआत करें और बाएं पैर से खत्म करें।

10. पैरों की उंगलियों के बीच पानी फेरना:

  • अपने पैरों की उंगलियों के बीच पानी फेरें।

11. दुआ पढ़ना:

यह वुजू करने का एक बुनियादी तरीका है।

कुरान पाक मे वुजू का जिक्र

”ऐ ईमान लानेवालो! जब तुम नमाज़ के लिए उठो तो अपने चेहरों को और अपने हाथों को कोहनियों समेत धो लिया करो और अपने सिरों का मसह करो और अपने पैरों को टखनों समेत धो लो।” (सूरतुल मायदाः 6)

इस पोस्ट को दोस्तों के साथ शेयर करे:
Bilal Ahmad

इस्लामकादुआ.कॉम एक इस्लामिक वेबसाइट है जो बिलाल अहमद द्वारा 2023 में शुरू की गई है, ताकि दुनिया भर के लोगो तक ऑथेंटिक इस्लामिक दुआएं, और जानकारी हदीस की रौशनी में पहुंचाई जा सके।

Leave a Comment