Sone se Pehle ki Dua | रात को सोने से पहले की दुआ

अस्सलामु अलैकुम नाज़रीन आज की पोस्ट में आप सभी Sone se Pehle ki Dua सीखने वाले हो। जिसमे आप यह जानने वाले है की जब हम बिस्तर पर सोने के लिए जाते है तो सोने से पहले की दुआ जरुर पढ़ते है।

जिससे रात भर बुरी सपना और बुरी साया से महफूज़ रहते है। इसीलिए आप सभी से मेरी गुजारिश है की जब भी रात को सोने के लिए जाए तो Sone ki Dua जरुर पढ़ कर सोए।

Sone Se Pehle ki Dua

Raat Me Sone se Pehle ki Dua In Arabic

रात को सोने से पहले की दुआ हिंदी में

अल्लाहुम्म बिसमि क अमुतु व अहया

Sone se Pehle ki Dua In English

Allahumma Bismika Amootu Wa Ahayaa

Sone ki Dua Meaning in Hindi

ए अल्लाह मैं तेरा नाम लेकर मरुँ और तेरा नाम लेकर जिन्दा रहूँ।

सोने की आदाब

  • इशा की नमाज़ पढ़ कर जल्दी सोने की कोशिश करना।
  • बावुजू बनाकर सोना चाहिए।
  • तीन मर्तबा बिस्तर झाड़ लेना।
  • सुरमा लगाकर सोना।
  • सोने से पहले तस्बीह-ए-फ़ातिमा पढ़ लेना, 33 मर्तबा सुब्हानल्लाह, 33 मर्तबा अल्हम्दु लिल्लाह, 34 मर्तबा अल्लाहु अक्बर पढ़ना।
  • ‘अल्हम्दु शरीफ़ पढ़ना’, चारों कुल पढ़ना, आयतल कुर्सी पढ़ना, सूरह मुल्क और अलिफ़ लाम मीम पढ़ना। अगर ज्यादा न पढ़ सके तो कम से कम कुरआन शरीफ़ की दस आयतें ही पढ़ लें।
  • सोने से पहले तीन बार इस्तिग़फ़ार भी पढ़ना, ‘अस्तगफिरुल्ला-हल-लज़ी ला इला-ह इल्ला हुवल हय्युल कय्यूम०’।
  • सोने की दुआ पढ़ना, ‘अल्लाहम-मा बिस्मि-क अमूतु व अया.’।
  • सीधी करवट लेट कर सीधा हाथ गाल के नीचे रखकर क़िब्ले की तरफ मुँह करके सोना।
  • अगर डरावना ख़्वाब नज़र आए और आँख खुल जाए तो ‘अऊजु बिल्लाहि मिनश-शैतानिर्रजीम’तीन बार पढ़कर उल्टी तरफ़ थुथकार दो और करवट बदल कर सो जाओ।
  • सोकर उठे तो यह दुआ पढ़े:
  • ‘अल्हम्दु लिल्ला-हिल्लज़ी अया-न व-द मा अमा तना व इलैहिन्नुशूर’
  • साथ मे फ़जर और अगर पढ़ सकते हो तो तहज्जुद की नमाज़ की नियत करके सोये।

दुआ पढ़ने के फायदे

सोने से पहले की दुआ के कई फायदे हैं:

  • यह हमें हमारे दिल और दिमाग को सुकून देती: यह दुआ हमारे दिल को सुकून देती है करती है और हमें चिंता और तनाव मे आसानी दिलाती है।
  • यह हमें रूह को मजबूत बनाती है: यह दुआ हमारे अल्लाह के साथ संबंध को मजबूत बनाती है।
  • यह हमें बुरी आदतों से दूर रखती है: यह दुआ हमें बुरी आदतों और गलत कामों से दूर रखने में मदद करती है।
  • यह हमें अच्छे सपने देखने में मदद करती है: यह दुआ हमें अच्छे और नेक सपने देखने में मदद करती है।

दुआ पढ़ने की अहेमीयत

सोने से पहले की दुआ बहुत बड़ी अहमियत है:

  • यह अल्लाह की इबादत है: ये दुआ हमे अल्लाह की तरफ हमारे ईमान और शुक्र को जाहिर करती है।
  • यह दुआ हमे हिफाजत करती है: यह दुआ हमें बुरी ताकतों और बुरे वासवसों से बचाती है।
  • यह हमें शांत और सुकून की नींद प्रदान करती है: यह दुआ हमारे मन को शांत करती है और हमें अच्छी नींद लेने में मदद करती है।
  • यह हमें अल्लाह की रहमत का एहसास दिलाती है: यह दुआ हमें यह याद दिलाती है कि अल्लाह हमेशा हमारे साथ है और हम उसकी हिफाजत मे है।

आज अपने क्या सीखा?

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल की मदद से जाना की Sone se Pehle ki Dua क्या होती है, और इस दुआ को आप तीनों भाषा मे याद कर सकते है और सोने से पहले पढ़ सकते है।

नाज़रीन कभी कभी सभी के साथ होता है की रात को नींद ही नहीं आती है, और वह परेशान होते रहते है. उनके लिए नींद आने की दुआ हमारे इसी वेबसाइट पर सीखने को मिल जायेगा।

दोस्तों इसी लिए जब आप सुबह नींद से बेदार होते है तो सो कर उठने की दुआ भी पढ़ा जाता है।

इस पोस्ट को दोस्तों के साथ शेयर करे:
Bilal Ahmad

इस्लामकादुआ.कॉम एक इस्लामिक वेबसाइट है जो बिलाल अहमद द्वारा 2023 में शुरू की गई है, ताकि दुनिया भर के लोगो तक ऑथेंटिक इस्लामिक दुआएं, और जानकारी हदीस की रौशनी में पहुंचाई जा सके।

Leave a Comment