Musibat ki Dua | मुसीबत से बाहर निकलने की दुआ

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों, आज फिर एक बेहतरीन दुआ जिसे बहुत लोग परेशान रहते है। उसकी निजात ये Musibat ki Dua करने वाला है।

आप सभी हज़रात से गुजारिश है की आज की पोस्ट बहुत ही ध्यान से पढ़ना होगा। क्युकी आज कल बहुत लोग मुसीबत से परेशान है। हर शख्स किसी ना किसी मुसीबत में जूझ रहा है।

इसीलिए मैंने सोचा की क्युकी नहीं एक ऐसा दुआ आप लोगो के साथ शेयर किया जाए, जिसको पढ़कर इंशाल्लाह आपकी कितनी भी बड़ी मुसीबत परेशानी क्यों ना सब खत्म हो जाएगा।

Musibat ki Dua

सय्यदना उस्मान बिन अफ़्फ़ान रजी अल्लाहु अंहो फरमाते है और कहते है की मैंने नबी अकरम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम से फरमाते हुए सुना की जिस शख्स ने शाम के वक़्त तिन मर्तबा ये कलामत पढ़े जो कुछ इस तरह है:

Musibat ki Dua In Hindi

इस कलामत को पढ़ने से सुबह तक कोई बला या नुकसान या मुसीबत नहीं पहुंच सकती और जिसने ये कलामत सुबह के वक़्त तिन मर्तबा पढ़े तो शाम तक इसको अचानक कोई मुसीबत नहीं आएगी।

रावी ने बयान किया कि इस हदीस के रिवायत करने वाले अबान बिन उस्मान (रजी अल्लाहु अंहो) को फ़ालिज हो गया था तो उनसे हदीस़ सुनने वाला उनको ताज्जुब से देखने लगा।

तो उन्होंने कहा: कया हूआ, मुझे देखते क्या हो? अल्लाह की क़सम! मेंने हज़रत उस्मान (रजी अल्लाहु अंहो) पर झूठ नहीं बोला है और न हज़रत उस्मान (रजी अल्लाहु अंहो) ने रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) पर झूठ बोला है। लेकिन जिस दिन मुझे ये फ़ालिज हूआ में उस दिन गुस्से में था ओर ये कलिमात पढ़ना भूल गया था। Sunan Abu Dawud, Hadith No. 5088

Musibat ki Dua In Hindi

बिस्मिल्लाहिल्लज़ी ला यज़ुरू मआ इस्मिही शेउन फ़िल अर्ज़ि वला फ़िस्समाइ व हुवस्समीउल अलीम

मुसीबत से बचने की दुआ तर्जुमा के साथ

अल्लाह के नाम के साथ जिसके नाम के बरकत के साथ जमीन और आसमान में कोई चीज़ नुकसान नहीं पहुँचाती और वही सुनने वाला और जानने वाला है।

Musibat ke Waqt ki Dua In Roman English

Bismillahi alladhi la yadurru ma’ ismihi shaiun fil-ardi wa-laa fil-Samm’i wa huwa al-Samee’u al-‘Aleem

इस दुआ से कौन फायदा ले सकता है:

फ़ायदा:- बिलाशुब्हा स़ाहिबे ईमान के लिये हर किस्म की ज़ाहिरी और बातिनी नागहानी आफतों से बचाव का ये इन्तेहाई आसान वजीफा है। शर्त ये है कि ईमान व यकीन के साथ साथ पाबन्‍न्दी भी हो।

Musibat me Konsi Dua Padhna Chahiye? तो मै आप सभी दोस्तों को बताना चाहता हूँ की Musibat se Nikalne ki Dua पढ़ना चाहिए जो ऊपर बताया हूँ।

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आप सभी हज़रात को आज की पोस्ट बेहद पसंद आया होगा। जिसमे Musibat ke Waqt Padhne ki Dua के बारे में बताया गया है।

इसी तरह का ढ़ेरो सारे दुआ सीखना चाहते है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे। जिससे आप भी परेशानी की दुआ का फायदा उठा सकते है।

इस पोस्ट को दोस्तों के साथ शेयर करे:
Bilal Ahmad

इस्लामकादुआ.कॉम एक इस्लामिक वेबसाइट है जो बिलाल अहमद द्वारा 2023 में शुरू की गई है, ताकि दुनिया भर के लोगो तक ऑथेंटिक इस्लामिक दुआएं, और जानकारी हदीस की रौशनी में पहुंचाई जा सके।

Leave a Comment