Majlis Ki Dua | Majlis ke kaffarah ki dua

अस्सलमु अलकेकुम दोस्तों, उम्मीद है आप सब अच्छे से होंगे आज की इस पोस्ट की मदद से हम आपको बताएंगे की Majlis Ki Dua क्या होती और इस दुआ को पढ़ना क्यों जरूरी है।

दोस्तों जैसा हम सभी जानते है जब हम किसी दुनिया और दीन की मजलिस मे बैठते है तो जाने अनजाने मे बहुत सी बात मुह से निकाल जाती है इसलिए हमे मजलिस की दुआ को पढ़ना चाहिए।

Majlis ki Dua

Majlis Ki Dua in Hindi

सुब्हानकल्लाहुम्म व बि हमदिक अश्हदुअल्ला इला-ह-इल्ला अन्त-अस्तग्फिरू-क, व अतूबु-इलैक


Majlis Ki Dua in English

Subhaankallahumm wa bi hamdiq ashaddualla ila-ha-illa anta-astaghfiru-ka, wa atubu-ilaik


Majlis Ki Dua ka Tarjuma

तर्जुमा : ऐं अल्लाह ! तू पाक है और तेरी ही तारीफ है, मैं गवाही देता हूँ तेरे सिवा कोई माबूद नहीं, मैं तुझ से मग्फिरत चाहता हूँ और तेरी तरफ लौटता हूँ।


आज अपने क्या सीखा?

दोस्तों आज हमने इस पोस्ट की मदद से जाना की Majlis Ki Dua क्या होती है और इस दुआ को हमारे प्यारे नबी ने भी पढ़ा था।

रसूलुल्लाह ﷺ ने फरमाया जिस ने मज्लिस से उठते वक़्त यह दुआ पढ़ी तो मज्लिस की बेकार (फालतू) बातें माफ कर दी जाती हैं।

इस पोस्ट को दोस्तों के साथ शेयर करे:
Bilal Ahmad

इस्लामकादुआ.कॉम एक इस्लामिक वेबसाइट है जो बिलाल अहमद द्वारा 2023 में शुरू की गई है, ताकि दुनिया भर के लोगो तक ऑथेंटिक इस्लामिक दुआएं, और जानकारी हदीस की रौशनी में पहुंचाई जा सके।

Leave a Comment